By : BoldSky Video Team
Published : September 13, 2021, 07:30
Duration : 01:27

राधा अष्टमी 2021 शुभ योग

राधा अष्टमी का पर्व 14 सितंबर, मंगलवार को भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की अष्टमी की तिथि ज्येष्ठा नक्षत्र और आयुष्मान योग में मनाया जाएगा।ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा ने बताया कि भादो शुक्ल पक्ष की अष्टमी की तिथि को राधा अष्टमी भी कहा जाता है। अष्टमी तिथि का प्रारंभ 13 सितंबर दोपहर 03:10 बजे से होगा, और 14 सितंबर दोपहर 01:09 बजे समाप्त होगी। राधा अष्टमी की पूजा सभी दुखों को दूर करने वाली मानी जाती है। वहीं मान्यता है कि राधा अष्टमी का व्रत सभी प्रकार के पापों को दूर करता है। सुहागिन स्त्रियां इस दिन व्रत रखकर राधा जी की विशेष पूजा करती हैं। इस दिन पूजा करने से अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है। जब-जब राधा रानी का जिक्र आता है, तब-तब सखियों का भी जिक्र होता है। वैसे तो राधारानी की अनगिनत सखियां थीं, लेकिन उनकी 8 सखियां ऐसी थीं जो राधारानी के साथ-साथ भगवान श्री कृष्ण के भी करीब थीं। राधा की ये सखियां उनका पूरा ध्यान रखती थीं। इन्हें अष्टसखी कहा जाता है। जिनमे से मुख्य सखी ललीता थी, जिसके नाम से इसे ललिता अष्टमी भी कहा जाता है।
Follow BoldSky On
 
Get Instant News Updates
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X